Announcement

Collapse
No announcement yet.

Political Jokes

Collapse
X
 
  • Filter
  • Time
  • Show
Clear All
new posts

  • #31
    केजरीवाल एक ढाबे पर गया और रायता मांगा ढाबेवालाः रायता बासी व खटटा है!

    केजरीवालः दे दो मैंने कौन सा खाना है मैंने तो बस फैलाना है।

    Comment


    • #32
      Click image for larger version

Name:	unnamed.jpg
Views:	8
Size:	76.8 KB
ID:	139984

      Comment


      • #33
        दौर-ए-चुनाव मे कहाँ कोई इंसान नजर आता है,
        कोई हिन्दू, कोई दलित तो कोई मुसलमान नजर आता है,
        बीत जाता है जब इलाकों मे चुनाव का यह दौर,
        तब हर शख्स रोटी के लिये परेशान नजर आता है।

        Comment


        • #34
          मोदी – हे पार्थ, बाण चलाओ!
          अमित शाह- परन्तु किस पर चलायें प्रभु?
          मोदी – पार्थ…तुम सिर्फ बाण चलाओ…केजरीवाल खुद उछल के बीच में आ जाएगा।

          Comment


          • #35
            minister : bomb blast me marne walo ko 5 lakh aur zakhmiyo ko 3 lakh denge ,
            .
            .
            .
            .
            .
            santa : mera baap pahle zakhmi hua fir mar gaya. hamara 8 lakh banta hai

            Comment


            • #36
              अगर आप अपने पिता जी की नहीं सुन रहे हैं …
              तो आप
              अखिलेश हैं

              अगर आप अपने माता जी की नहीं सुन रहे हैं …
              तो आप
              राहुल हैं

              अगर आप किसी की भी नहीं सुन रहे हैं …
              तो आप
              नरेंद्र मोदी हैं

              अगर आपकी कोई नहीं सुन रहा है …
              तो आप
              केजरीवाल हैं!

              Comment


              • #37
                Originally posted by Nitin Kumar View Post
                मोदी – हे पार्थ, बाण चलाओ!
                अमित शाह- परन्तु किस पर चलायें प्रभु?
                मोदी – पार्थ…तुम सिर्फ बाण चलाओ…केजरीवाल खुद उछल के बीच में आ जाएगा।
                एक अस्तबल पूरा गधों से भरा हुआ था। उनमे सिर्फ एक घोड़ा था।

                घोड़े को ढूँढने की शर्त लगी……

                पहले ओबामा जाते हैं।
                एक घंटे तक प्रयत्न करने पर भी ओबामा घोडा ढूंढ नहीं पाये।
                उसके बाद पुतिन गए।
                पुतिन भी बाहर आ गए, लेकिन घोडा ढूंढ नहीँ पाये।

                अब बारी आई मोदीजी की।
                मोदीजी एक मिनट में घोड़ा ढूंढ लाये।

                ओबामा व पुतिन आश्चर्य चकित हो कर पूछने लगे, आपने कैसे घोड़े को ढूंढ लिया?

                मोदीजी बोले :
                अंदर जाकर इतना कह दिया कि “अच्छे दिन” आने वाले हैं। सब गधे नाचने लगे, मैं घोड़ा लेकर बाहर आ गया…”

                Comment


                • #38
                  Don’t steal, don’t lie and don’t cheat. The government hates competition.

                  Comment

                  Working...
                  X